सांस्थानिक विकास योजना

You are here

अभातशिप द्वारा संचालित सांस्थानिक विकास योजनाओं के बारे में अधिक पढ़े

AICTE- IDEA LAB

एआईसीटीई ने एआईसीटीई अनुमोदित संस्थानों में एआईसीटीई-आइडिया (आइडिया डेवलपमेंट, मूल्यांकन और एप्लीकेशन) लैब स्थापित करने का फैसला किया है, जो विज्ञान, प्रौद्योगिकियों, इंजीनियरिंग और गणित (स्टेम) बुनियादी बातों के अनुप्रयोग के लिए छात्रों को प्रोत्साहित कर रहा है ताकि कर के द्वारा सीखने और उत्पाद विज़ुअलाइज़ेशन में हाथ से सीखने की दिशा में बढ़ाया जा सके ।

छात्रों के बीच रुचि, रचनात्मकता और नैतिकता को बढ़ावा देने के लिए AICTE- योजना (SPICES)

व्यक्तिगत हितों, रचनात्मक कार्यों, प्रदर्शन प्रतिभा, नेटवर्किंग और टीमवर्क के अवसरों, सामाजिक अनुभव को आगे बढ़ाने के लिए इकाई की सुविधा के रूप में छात्रों के क्लब / अध्यायों / समितियों को सक्रिय करने और स्थिति के लिए; संगठन और प्रबंधन कौशल, पेशेवर नैतिकता के लिए जोखिम आदि।

संगठन के लिए अनुदान

यह योजना तकनीकी शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मेलन आयोजित करने के लिए संस्थानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

आधुनिकीकरण तथा अप्रचलन निवारण (MODROBS)

यह योजना तकनीकी संस्थाओं को अवसंरचनात्मक सुविधाओं, प्रयोगशालाओं, कार्यशालाओं और कंप्यूटिगं सुविधाओं से लैस करती है ताकि वहां शिक्षण, प्रशिक्षण और शोध की क्षमताओं में वृद्धि हो सके। वित्त-पोषण की सीमा 20 लाख रू है तथा परियोजना की अवधि 2 वर्ष है।

ई- शोध सिंधु (ई-पत्रिकाओं की सदस्यता)

एआईसीटीई द्वारा अनुमोदित सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त तकनीकी संस्थानों को ई-जर्नल/ई-संसाधनों तक मुफ्त पहुंच इनफ्लिबनेट के माध्यम से सुगम बनाया जाता है, जिसकी सदस्यता एआईसीटीई द्वारा भुगतान की जाती है ।

परिसर आवास और सामाजिक अनुभव (CAFES) को बढ़ाने की सुविधा के लिए योजना

इस योजना का उद्देश्य एससी और एसटी/दिव्यांग/एनईआर छात्रों से संबंधित छात्रों/शोधकर्ताओं के लिए लड़कियों/लड़कों के छात्रावासों के निर्माण के लिए सरकारी सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेजों/विश्वविद्यालय विभागों/पॉलिटेक्निक को सहायता देना है ।कुल फंडिंग 3.25 करोड़ रुपये है, जिसे 3 साल की अवधि के भीतर परियोजना को पूरा करने के लिए संस्थान को प्रदान किया जाना है।

पूर्वोंत्तर राज्यों के लिए विशेष योजना

पूर्वोत्तर भारत के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में स्थित तकनीकी संस्थाओं की कार्यात्मक दक्षता में सुधार लाने के लिए अभातशिप ने वर्षा जल संचयन प्रणाली का निर्माण करने, वैकल्पिक विद्युत सहायता प्रदान करने तथा इंटरनेट सुविधा की उपलब्धता/कनेक्शन प्रदान कराने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करते हुए पूर्वोत्तर क्षेत्र की तकनीकी संस्थाओं को संचार-तंत्र संबंधी सहायता देने के प्रयोजनार्थ यह योजना आरंभ की है।

मार्गदर्शन पहल
भाग 1: मार्गदारशक्ति

वरिष्ठ शिक्षाविदों (सेवारत या सेवानिवृत्त) को एनबीए मान्यता प्राप्त करने और तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए लाभार्थी संस्थानों के मार्गदर्शन के लिए व्यक्तिगत आकाओं के रूप में कार्य करने के लिए मार्गदारशाक (एमडी) के रूप में नामित किया जाएगा ।


भाग 2- मार्गदर्शन संस्थान

मार्गदर्शन इंस्टीट्यूट या मेंटर इंस्टीट्यूट (एमआई) के रूप में संदर्भित एक अच्छी तरह से स्थापित एआईसीटीई अनुमोदित संस्थान को एनबीए मान्यता प्राप्त करने में 10 आस-पास के संस्थानों को मेंटर करने के उद्देश्य से समर्थित किया जाता है ।

Back to Top