You are here

प्रसिद्ध एवं गणमान्य व्यक्तियों के स्मरणीय संदेशों का संग्रह

अध्यक्ष का संदेश

800 ई. पू भारतीय शिक्षा के रूपांतरण के चरमोत्कर्ष का काल था, जब अविभाजित भारत में विश्वस्तरीय संस्थाएं विधमान थी, हालांकि इसका पतन आधुनिकीकरण और औद्योगिकीकरण के युग के मध्य प्रारंभ हो गया

प्रो. अनिल डी सहस्रबुद्धे
अध्यक्ष
Back to Top